Close

सेंटर्स ऑफ़ एंटरप्रेन्योरशिप

मोशन

पुणे में ऑटोनॉमस कनेक्टेड इलेक्ट्रिक शेयर्ड (एसीईएस) मोबिलिटी में एक सीओई

उद्देश्य : तैयार कार्यक्षेत्र, प्रयोगशालाओं, परामर्श, उद्योग के लिए अनुशंसित पाठ्यक्रमों के लिए प्रशिक्षण, वित्त पोषण, विपणन, आईपीआर / पेटेंट, कानूनी और लेखा संबंधी समर्थन के साथ एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करके एसीईएस गतिशीलता क्षेत्र में स्टार्टअप और उभरते उद्यमियों के लिए अनुकूल वातावरण का निर्माण।

फोकस क्षेत्र : स्वायत्त वाहन, इलेक्ट्रिक वाहन, कनेक्टेड वाहन, साझा वाहन, बैटरी प्रौद्योगिकी और बीएमएस, और चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर।

स्थान : पुणे ऑटोमोबाइल विनिर्माण और ऑटो संबंधित उद्योगों का केंद्र है। टाटा मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मर्सिडीज बेंज, जनरल मोटर्स, फॉक्सवैगन, फिएट, फोर्स मोटर्स (फिरोदिया ग्रुप) और काइनेटिक मोटर्स जैसी बड़ी ऑटोमोटिव कंपनियों के पुणे और उसके आसपास अपने विनिर्माण केंद्र हैं। सेंट-गोबेन सेकुरिट, टाटा ऑटोकॉम्प सिस्टम्स लिमिटेड, रॉबर्ट बॉश जीएमबीएच, जेडएफ फ्रेडरिकशाफेन एजी, विस्टियन और कॉन्टिनेंटल कॉर्पोरेशन जैसे कई ऑटोमोटिव कंपोनेंट निर्माता इस क्षेत्र में हैं। इसके अलावा, पुणे उच्च तकनीक वाली कंपनियों के लिए एक हब के रूप में उभरा है जो इलेक्ट्रॉनिक्स / आईटी वैल्यू चेन के सभी क्षेत्रों की आवश्यकताओं को पूरा करता है। ऑटोमोटिव और हाई-टेक उद्योगों के केंद्र के रूप में, पुणे मोशन सीओई स्थापित करने के लिए एक उचित स्थान है।

पुणे में ऑटोनॉमस कनेक्टेड इलेक्ट्रिक शेयर्ड (एसीईएस) मोबिलिटी में एक सीओई

भागीदार :भागीदारों में इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई), एसटीपीआई, एआईसी एसटीपीआईनेक्स्ट, महाराष्ट्र सरकार, टाटा मोटर्स, काइनेटिक ग्रुप, इंटेल, मैथवर्क्स, विस्टियन टेक्निकल एंड सर्विसेज सेंटर प्रा. लिमिटेड, ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एआरएआई), सोसाइटी ऑफ ऑटोमोटिव इंजीनियर्स इंडिया (एसएईइंडिया), टीआईई पुणे और कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, पुणे शामिल हैं।

लक्षित लाभार्थी : 5 वर्षों की अवधि में 51 स्टार्टअप को इनक्यूबेट करने का लक्ष्य रखा गया है।

अवधि : सीओई को इसके संचालन की तारीख से पांच वर्ष के लिए परिचालित रखने का प्रस्ताव है।

बजट और फंडिंग का स्रोत : इस सीओई के लिए 20 करोड़ रुपये का बजटीय परिव्यय है ,जिसमे एमईआईटीवाई द्वारा (8 करोड़ रुपये), एसटीपीआई द्वारा (5.75 करोड़ रुपये), और महाराष्ट्र सरकार द्वारा (6.25 करोड़ रुपये) साझा किए गए ।

मेंटर्स की संख्या: 8

उपलब्धियां: 18 स्टार्टअप शामिल किये गए

अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाएं:

मोशन सीओई वेबसाइट

Facilities & Services

  • अत्याधुनिक इन्क्यूबेशन सुविधा
  • मेंटरिंग, तकनीकी सहायता और विपणन सहायता
  • मवित्तीय सहायता तक पहुंच
  • आईपीआर/पेटेंटिंग, कानूनी, लेखा और अन्य सहायता सेवाओं के लिए सुविधा
  • वर्चुअल इन्क्यूबेशन सेवाएं
  • एसीईएस मोबिलिटी लैब ओपनसोर्स हार्डवेयर प्लेटफॉर्म, मोटर कंट्रोल इवैल्यूएशन मॉड्यूल, 3-फेज सेंसर लेस बीएलडीसी डेवलपमेंट किट, इलेक्ट्रिक सेफ्टी एनलाइजर, ऑसिलोस्कोप और एक्सेसरीज, थर्मल इमेजिंग कैमरा और 3 डी प्रोटोटाइप प्रिंटर से सुसज्जित है।

Chief Mentor

मोशन

श्री गणेश नटराजन

5F वर्ल्ड के कार्यकारी अध्यक्ष और संस्थापक

चीफ मेंटर सभी गतिविधियों से जुड़े रहेंगे और सीओई के लिए मार्गदर्शक और एंकर होंगे।

Head of CoE

मोशन

श्री संजय कुमार गुप्ता

निदेशक, एसटीपीआई-पुणे

सीओई के प्रमुख सभी गतिविधियों से जुड़े रहेंगे और सीओई के लिए मार्गदर्शक और एंकर होंगे।

Highlights

उद्देश्य

सीओई से भारत में एसीईएस मोबिलिटी सेक्टर में R&D, इनोवेशन, एंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा देने के लिए एक संपूर्ण इकोसिस्टम बनाने की उम्मीद है, जो भौतिक बुनियादी ढांचे और प्रयोगशालाओं को विकास और डिजाइन से प्रोटोटाइप तक समाधान के सत्यापन और नवाचार के लोकतंत्रीकरण और व्यावसायीकरण की सुविधा प्रदान करता है।

वापस शीर्ष पर